जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन के लिए वृंदावन से झारखंड के लिए प्रारंभ हुई यात्रा

VijaySharma
0

वृंदावन परिक्रमा मार्ग स्थित ललित कुंज आश्रम से श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन के लिए श्री कृष्ण जन्म भूमि मुक्ति ज्योति जन जागरण यात्रा का शुभारंभ किया गया। यात्रा का शुभारंभ हरिदासिय पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर राधा प्रसाद देव जू महाराज की अध्यक्षता में हुआ। इस मौके पर भगवान श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्ति न्यास के संस्थापक अध्यक्ष एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंह, महंत मोहिनी बिहारी शरण महाराज मौजूद रहे। इस यात्रा की अगुवानी अंतर्राष्ट्रीय कथावाचक संजय शास्त्री महाराज करेगे। यह यात्रा मथुरा, आगरा, इटावा, बिहार, बंगाल होते हुए झारखंड पहुंचेगी। जहां पर 1008 हवन यज्ञ का आयोजन किया जाएगा और साथ ही इस यात्रा का जगह जगह पर भव्य स्वागत एवं श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्ति के लिए आवाज उठाई जाएगी।

वहीं इस मौके पर बोलते हुए हरिदासिय संप्रदाय के आचार्य राधा प्रसाद देव जू महाराज ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय कथावाचक पंडित संजय शास्त्री महाराज के अगुवानी में इस यात्रा का शुभारंभ हुआ है। यह यात्रा देश भर में एक अलग ही पहचान बनाएगी। 

श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्ति न्यास के संस्थापक अध्यक्ष एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि इस यात्रा के माध्यम से जन-जन तक भगवान श्री कृष्ण के जन्म भूमि के मुक्ति आंदोलन में एक नई राह जुड़ेगी। लोगों को इस यात्रा के माध्यम से बताया जाएगा की किस तरीके से बाहरी आक्रमणकारियों ने हमारे प्रभु श्री कृष्ण की जन्मभूमि पर जबरन कब्जा किया और मस्जिद का निर्माण किया।

महंत मोहिनी बिहारी शरण महाराज ने बताया कि कथा वाचक पंडित संजय शास्त्री महाराज के द्वारा इस यात्रा की अगुवानी की जाएगी और उन्हीं के देखरेख में यह यात्रा भगवान श्री कृष्ण की क्रीड़ास्थली वृंदावन से प्रारंभ होकर मथुरा, आगरा, इटावा, बिहार, बंगाल होते हुए झारखंड पहुंचेगी। जहां पर एक विशाल हवन यज्ञ का आयोजन होगा और भगवान श्री कृष्ण की जन्म भूमि मुक्ति के लिए आवाज उठाई जाएगी।

पंडित संजय शास्त्री महाराज ने बताया कि आज हरिदासीय संप्रदाय आचार्य राधा प्रसाद देव जू महाराज की अध्यक्षता और परम कृपा से इस यात्रा का शुभारंभ हो रहा है। इस यात्रा में भगवान श्री कृष्ण की जन्म भूमि को मुक्त करने के लिए आव्हान किया जा रहा है और साथ ही जन-जन तक भगवान श्री कृष्ण की जन्म भूमि मुक्ति आंदोलन में जुड़ने के लिए आव्हान किया जाएगा। यह परम कृपा है कि इस यात्रा का शुभारंभ भगवान श्री कृष्ण की क्रीडा स्थल वृंदावन से हो रहा है।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)