अब नहीं होगा धनबाद से किसी व्यवसायीक का पलायन अनुपमा सिंह

VijaySharma
0


धनबाद  बड़ा गुरुद्वारा बैंक मोड में धनबाद में जेठ माह के पहले दिन संक्रांति के अवसर पर जहां गुरुद्वारा में विशेष अरदास और लंगर का आयोजन किया गया वही अनुपमा सिंह का आने का कार्यक्रम पूर्व निर्धारित था उन्होंने न सिर्फ माथा टेक कर गुरु ग्रंथ साहिब से आशीर्वाद ही नहीं प्राप्त किया बल्कि देग प्रसाद  भी लेकर आई थी एवं लंगर रसोई घर में जाकर अपने हाथों से लंगर बनाने में हाथ बटाया सेवा निभाई एवं लंगर वितरण किया बर्तनों को धोने की सेवा निभाई इस दौरान अनुपमा सिंह ने कहा कि आज गुरुद्वारा की इस दरबार में पहुंचकर जो आशीर्वाद हमें मिला है उसकी कल्पना नहीं कर सकती हूं आगे भी ऐसा ही प्यार और आशीर्वाद हमें मिलेगा जनसंपर्क में मैं देख रही हूं कि धनबाद के लोग बहुत ही मृदभाषी मिलनसार है तथा दो दिन पूर्व खालसा होटल के मालिक के द्वारा यहां से पलायन किए जाने पर चिंता जताई और कहा कि है सिख हमेशा ही मेहनतकश होते हैं ऐसा सबका भला ही मांगते हैं और सेवा में निपुण रहते हैं ऐसे में धनबाद के लिए दुर्भाग्य की बात है और चिंतनीय विषय है ऐसा आगे नहीं हो इसके लिए सख्त कदम उठाने होंगे  ऐसा पहली बार हुआ कि जब कोई 40 साल से व्यवसाय करने वाला व्यक्ति धनबाद छोड़ने पर मजबूर हुआ अनुपमा ने कहा कि हमें यहां से आशीर्वाद और प्यार के सिवा और कुछ नहीं चाहिए सतपाल सिंह ब्रोका ने कहा कि अनुपमा सिंह ने गुरु साहिब के दरबार में आकर माथा टेकर आशीर्वाद पाया अनुपमा के ससुर दिवंगत राजेंद्र प्रसाद सिंह कोलांचल क्षेत्र के बड़े कोयला मजदूर नेता थे एवं जेवीसीसी माध्यम से हमेशा मजदूरों की लड़ाई लड़ते रहे आज इस मजदूर की लड़ाई का ही परिणाम है कि मजदूरों की सैलरी दसवां वेज बोर्ड तक आते-आते लाख रुपए से पार कर गया इस क्षेत्र में कोयला मजदूर स्वर्गीय राजेंद्र बाबू को कभी नहीं भूल पाएंगे इधर कार्यक्रम के समाप्ति के बाद सिख समाज के लोगों ने अनुपमा के साथ खूब तस्वीरे भी खींचवाई खूब ढ़ेर सारा प्यार आशीर्वाद दिया अनुपमा ने  कहा ये मेरे लिए सबसे बड़ी सौभाग्य की बात है सिख बच्चों महिलाओं में एक झलक अनुपम सिंह के पाने के लिए लोग ललाइत थे महिलाओं ने सर्वप्रथम अरदास प्रार्थना के उपरांत गुरुद्वारा के हेड ग्रंथि जी ने उन्हें सिरोपा सम्मान देकर आशीर्वाद सम्मानित किया बड़ी संख्या में गुरुद्वारे में लोग उपस्थित थे और रह रहकर उन्हें आशीर्वाद दे रहे थे गुरुद्वारा कमेटी के और से इंद्रजीत सिंह गुजराल एवं बेरमो निवासी लकी सिंह को भी सतपाल सिंह ब्रोका ने सिरपा देकर सम्मानित किया बड़ा गुरुद्वारा के अध्यक्ष दिलजान सिंह राजेंद्र सिंह चहल सचिव गुरजीत सिंह उपाध्यक्ष तेजपाल सिंह संयुक्त सचिव राजेंद्र सिंह मनमोहन कौर जसविंदर कौर राजेंद्र सिंह चावला निरंजन सिंह सुच्चा सिंह आदि हजारों लोग उपस्थित थे l

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)