भारतीय राजपूताना सेवा संगठन के स्थापना दिवस पर धूमधाम से मनाई गई उत्कृष्ट रामनवमी

VijaySharma
0


बेंगलुरु भारतीय राजपूताना सेवा संगठन, बेंगलुरु के अध्यक्ष सुनील सिंह, व्हाइट फील्ड युवा अध्यक्ष रोहित सिंह, और मातृशक्ति अध्यक्ष सुभाषिनी सिंह के नेतृत्व में भारतीय राजपूताना सेवा संगठन ने रामनवमी और अपना स्थापना दिवस मनाया। इस शुभ अवसर पर सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया गया, इसके बाद मातृशाक्ति के द्वारा सोहर और झूमर गाए गए। समाज के बड़े और बुजुर्गों ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुभारंभ किया, बैंगलोर सलाहकार श्री राजेश्वर सिंह जी ने स्वागत भाषण देकर सभी को अभिनंदन किया। भारतीय राजपूताना सेवा संगठन के संस्थापक और राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल सिंह सिकरवार ने 12 अप्रैल, 2011 को संगठन का शुभारंभ किया था, उस समय से लेकर अभी तक का इतिहास और सफर के बारे में बताया गया, कैसे संगठन से लोग जुड़ते चले गए और संगठन कई राज्यों में फैल गया, अभी तक किन-किन राज्यों और जिलों में कार्य किया गया है, इसके बारे में बताया गया। संगठन का मुख्य उद्देश्य, सेवा अस्माकं धर्म सेवा परमो धर्म। संगठन अपने कुछ लोगों द्वारा कुछ लोगों की मदद कैसे करता है इसके बारे में बताया गया, संगठन अपने कुछ सदस्यों द्वारा दी गई मदद के बारे में भी बताया और बताया कि संगठन कैसे किसी की सेवा करता है। किन-किन राज्यों में क्या काम किया जा रहा है, उसके बारे में बताया गया। आज के समय में हम किसी को अपना बनाने के लिए सेवा 'भावना से किए गए कार्यों के द्वारा ही अपना बना सकते हैं। इस मौके पर पूरे साल उत्कृष्ट काम करने वाले अधिकारियों को सम्मानित किया गया। बच्चों के द्वारा भी रंगा रंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए और उन्हें सम्मानित किया गया, सम्मानित किए गए अधिकारी राष्ट्रीय महासचिव प्रेम सिंह जी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुधांशु सिंह जी, बैंगलोर अध्यक्ष सुनील सिंह जी, बैंगलोर आयोजन सचिव संजय सिंह जी, व्हाइटफील्ड अध्यक्ष रोहित सिंह, आरटी नगर अध्यक्ष चितरंजन सिंह जी, मातृशक्ति निर्मला सिंह, व्हाइटफील्ड अध्यक्ष सुभाषिनी सिंह और उपाध्यक्ष रोहिणी सिंह जी और , राजपूत समाज और भारतीय राजपुताना सेवा संगठन के सभी सदस्यों ने हर्ष उल्लास के साथ रामनवमी और स्थापना दिवस मनाया। भारतीय राजपूताना सेवा संगठन के सदस्यों ने जय श्री रस और महाराणा प्रताप का जया जयघोष किया।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)