मुखिया जी महाराज का पंच दिवसीय प्रथम निकुंज उत्सव 4 अप्रैल से प्रारंभ

VijaySharma
0



वृंदावन (मथुरा) श्रीधाम वृंदावन के परिक्रमा मार्ग स्थित घमंडदेवाचार्य पीठ आश्रम में पंच दिवसीय महावाणी रस उपासक महंत रूप किशोर दास मुखियाजी महाराज का प्रथम निकुंज उत्सव 4 अप्रैल से 8 अप्रैल 2024 तक धूमधाम से मनाया जाएगा। 

कार्यक्रम की जानकारी देते हुए महंत वेणुगोपाल दास महाराज ने बताया कि इस पंचदिवसीय कार्यक्रम में प्रतिदिन सुदर्शन महायज्ञ प्रातः 7 बजे से प्रारंभ होगा। जिसमें नित्य प्रतिदिन सवा लाख आहुतियां दी जाएगी। इंदौर एवं बनारस से पधारे हुए प्रकांड विद्वान इस महायज्ञ को संपूर्ण कराएंगे। निंबार्क भगवान सुदर्शन जी का अवतार माने गए हैं। इसीलिए सुदर्शन महायज्ञ में आहुति देने का विशेष फल बताया गया है। प्रातः 10 बजे से समाज गायन का आयोजन होगा जिसमें महावाणी का गायन होगा। वही भक्तमाल कथा दोपहर 3 बजे से प्रारंभ होगी। जिसमें प्रथम दिवस भक्तमाली बिहारी दास महाराज व द्वितीय एवं तृतीय दिवस जगतगुरु मलूक पीठाधीश्वर राजेंद्र दास महाराज की मधुर वाणी द्वारा भक्तमाल की कथा का रसपान कराया जाएगा। इसी के साथ ही सायं 7 से रासलीला का आयोजन किया जाएगा। जिसमें सभी भक्तों के चरित्र के दर्शन कराए जाएंगे । 8 अप्रैल को पूज्य गुरुदेव रूप किशोर दास महाराज मुखियाजी की मूर्ति स्थापना का कार्यक्रम होगा। जिसमें राम कथा प्रवक्ता संत विजय कौशल महाराज एवं गोलोक पीठाधीश्वर गोपाल शरण देवाचार्य महाराज के सानिध्य में मूर्ति स्थापना का संपूर्ण कार्यक्रम संपन्न होगा। तत्पश्चात पधारे हुए सभी जगतगुरु महामंडलेश्वर संतो के द्वारा महाराजश्री को अपनी वाणी से पुष्पांजलि अर्पित की जाएगी। सभी से अपील है कि वह गुरुदेव महाराज के इस कार्यक्रम में पधार कर पुण्य के भागी बने। आचार्य राधा प्रसाद देव जू महाराज, महंत गोवर्धन दास महाराज, महंत मोहिनी बिहारीशरण, महंत वासुदेव शरण दास महाराज, महंत त्यागी महाराज, महंत हरीशंकर दास नागा महाराज, रमेश चंद्र आचार्य आदि मौजूद रहे।
रिपोर्ट  आशुतोष शर्मा

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)