तरुणी सम्मेलन में महिला शक्ति ने किया आत्मनिर्भर भारत पर मंथन

VijaySharma
0

वृन्दावन - धार्मिक नगरी वृन्दावन शोध संस्थान में आयोजित कार्यक्रम तरुणी सम्मेलन सम्पन्न हुआ इससे पहले मुख्य अतिथि DPRO किरन चौधरी, मुख्य वक्ता विभाग प्रचारक अरुण कुमार ने भारत माता के चित्रपट के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की '
मुख्य अतिथि DPRO किरन चौधरी ने माता एवं तरुणी बहनों को संबोधित करते हुए कहा शिक्षा सर्वोपरि , शिक्षा केवल स्कूल से नही मिलती,  घर , समाज किसी भी, पार्टनर से हम जो सीखते हैं वह शिक्षा है , हमे अपना वजूद बनाना , संघर्ष करना है डरना नही है, निर्णय लेने की क्षमता विकसित करनी है अपना लक्ष्य निर्धारित करना है हमारी संस्कृति बेहद मजबूत और विकसित है विकसित भारत के निर्माण में तरुणी की भूमिका पथ प्रदर्शक के रूप में रहेगी डॉ. तपस्या शर्मा ने कहा लर्निग लेबर और लो (कानून ) का सामान्य एक देश के विकास का आधार बनेगा । नारी की आत्मनिर्भरता क्यों आवश्यक है नारी शक्ति स्वरूप है हमें अपनी शक्ति को पहचानना है अगर हम खुद या नही सुधरेंगे तो समाज कैसे सुधरेगा '
मुख्य वक्ता अरुण कुमार ने कहा मातृशक्ति तरुणी का स्थान हमारे समाज में यहां है नवरात्रों में साक्षात तरुणी मातृशक्ति की आराधना है हिंदू विचारधारा के पुरुषार्थ हैं धर्म ,अर्थ, काम, मोक्ष, धर्म और अर्थ प्रारब्ध पर निर्भर है
दृष्टि ऊंची तो मानव ऊंचा रहता है भगवान शिव का दो प्रकार से वर्णन है श्मशान के रहने वाला और अर्धनारीश्वर 
परिवार सर्वोपरि हितैषी है  ऐसे भी है मातृशक्ति से सीधे ईश्वर उत्पन्न हुआ है ईश्वर से सीधे मातृशक्ति उत्पन्न हुआ 46 सभ्यताओ का जन्म हुआ जिसमे हिन्दु सभ्यता विशेष सभ्यता है अस्तित्व पर जोड़ देना परिवार के साथ अपनापन अस्तित्व होकर रहना चाहिए ।
अब बेटियों को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता आजादी के बाद नारी शक्ति बंधन अधिनियम के रूप में मातृशक्तियों को ऐसी ताकत मिली है जिससे हम सब की लीडरशिप बढ़ेगी हमारी संस्कृति हमारी विरासत बेहद मजबूत है  विकसित भारत के निर्माण में तरुणी की भूमिका पथ प्रदर्शक के रूप में रहेगी मातृशक्ति ऐसी शक्ति है जो  अगर आप उसे खुशियां दोगे तो वह लक्ष्मी बनकर धन वर्षा करेगी अगर आपने उसे प्रताड़ित करने का प्रयास किया तो महिषासुर मर्दिनी बनकर संहार करने से भी पीछे नहीं हटेगी ।
 । इस अवसर पर  विभाग सम्पर्क प्रमुख मनीष कुमार, सह जिला संघचालक संजय पाण्डे, जिला प्रचारक चन्द्रशेखर, जिला कार्यवाह अरुण दीक्षित,सह जिला कार्यवाह बृजेश, सह जिला प्रचार प्रमुख विजय राघव, वंदना अरोड़ा, महिमा अरोड़ा, नीलम गोस्वामी, सह नगर कार्यवाह नृत्यगोपाल दुबे, नगर सम्पर्क प्रमुख यतेन्द्रप्रतापसिंह,डॉ.देवप्रकाश ,प्राधानाचार्य प्रेमा पानु,जिला उपाध्यक्ष मनीषा पाराशर,महानगर अध्यक्ष पूजा चौधरी,महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष  मुदिता शर्मा राजेश चतुर्वेदी, नगर प्रचार प्रमुख गिर्राज शर्मा श्याम सुंदर शर्मा, गिरधर, कौशल, विभित्र स्कूल की छात्राएं एवं जिला श्री धाम वृन्दावन की मातृशक्ति मौजुद रही एवं स्वयं सेवक कार्यक्रम का संचालन प्रिया पाण्डे ने किया ।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)