असम एसआरएलएम की टीम ने किया धनबाद का दौरा

VijaySharma
0

धनबादः ग्रामीण विकास विभाग झारखण्ड सरकार द्वारा संचालित जेएसएलपीएस की कार्यशैली अब बाहर के राज्यों को भी प्रभावित कर रही है। 31 जनवरी तथा 01 फरवरी को असम एसआरएलएम की 20 सदस्यी टीम ने धनबाद के तोपचांची प्रखण्ड में खरियो तथा ब्राहमणडीहा आजीविका महिला संकुल संगठन का 2 दिवसीय दौरा किया। 

टीम ने यह दौरा वित्तीय समावेषण में हो रहे वित्तीय साक्षरता, सामाजिक सुरक्षा, बीमा दावा समझौता तथा बैंकिंग कोरेसपांडेंट बिंदु को समझने के सिलसिले में किया। टीम के सदस्यों का कहना है कि जिले में वित्तीय समावेषण का साकारात्मक प्रभाव एवं संस्था से जुड़े सदस्यों की आर्थिक स्थिति में सुधार सराहनीय है। संकुल संगठन के सदस्यों ने टीम को क्रेडिट लिंकेज, तथा सीआईएफ, बीमा लाभ के बारे में बताया। 

सदस्य वित्तीय समावेषण के माध्यम से आर्थिक लाभ लेकर उन्नत खेती, उत्पादन, पशुपालन, पॉल्ट्री, लघु उद्योग, ब्यूटीशियन आदि आजीविका गतिविधियों से जुड़े हैं एवं प्रत्येक माह अच्छी कमाई कर रहे हैं। संकुल संगठन के अंतर्गत संचालित ठब् च्वपदज (बैंकिंग कोरेसपांडेंट बिंदु) संरचना ने असम की टीम को सबसे ज्यादा प्रभावित किया। बैंकिंग कोरेसपांडेंट बिंदुओं के माध्यम से समुदाय आधारित संगठनों को बैंकिंग सुविधाएँ प्रदान करवाई जाती हैं। 

बाघमारा प्रखण्डा अंतर्गत हरिना आजीविका महिला संकुल संगठन के द्वारा संचालित बैंकिंग कोरेसपांडेंट बिंदु (बैंक ऑफ इंडिया- डुमरा मोड़) का भ्रमण भी टीम के द्वारा किया गया। संचालक दीदी ने टीम को बताया कि इस केन्द्र से वह प्रत्येक माह रू.25000 से रू. 30000 का कमीशन प्राप्त करती हैं।  

भ्रमण के दौरान टीम को जिला कार्यक्रम प्रबंधक- श्री शैलेश रंजन, मूल्यांकन एवं अनुश्रवन- श्री राजीव कुमार पाण्डेय तथा वित्तीय समावेषण- श्री मोबाशीर कमाल ने सहयोग किया। मौके पर प्रखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक कुणाल कुमार दास के साथ राजकुमार कपरदार उपस्थित थे।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)