विश्व में ब्रज संस्कृति सर्वोत्तम

VijaySharma
0
 वृंदावन  संस्कार भारती वृंदावन के बैनर तले श्रीनिम्बार्क जूनियर हाई स्कूल के पावन प्रांगण में ब्रज संस्कृति की उपादेयता के विषय में परिचर्चा आयोजित की गई जिसमें कार्यक्रम की अध्यक्षता जयकिशोर शरण संपादक सर्वेश्वर ने की ।उन्होंने बताया कि ब्रज की संस्कृति बहुत ही दिव्य हैतथा सर्वश्रेष्ठ है। वर्तमान में ब्रज संस्कृति के प्रचार प्रसार की आवश्यकता है कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉक्टर चंद्र प्रकाश शर्मा ने कहा कि हमारी कलाओं की जो विधाएं नृत्य नाट्य संगीत गायन वादन रास मंदिर शैली आदि सब हमारी ब्रज संस्कृति की परिचायक हैं जिनके विकास की आज बहुत बड़ी आवश्यकता है विशिष्ट अतिथि विष्णु मोहन नागर्चएवं श्याम बिहारी खंडेलवाल ने विचार रखते हुए बताया कि ब्रज वृंदावन रस की भूमि है यह रसिकन की भूमि है नई पीढ़ी को आज उनके बताए हुए मार्ग पर चलने की आवश्यकता है कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुकेश अग्रवाल ने बताया कि संस्कार भारती कलाऔर साहित्य के लिए समर्पित संस्था है संस्कृति के विस्तार के लिए संस्था के सदस्य सदैव प्रयास रत रहते हैं। कार्यक्रम का संचालन करते हुए बृज किशोर त्रिपाठी ने कहा किवृंदावन रस की भूमि है हमारे पूर्वाचार्योंने जो परंपरा दी हैं जो मान्यतायें स्थापित की है आज उनका अनुगमन करने की आवश्यकता है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से कृष्ण गोपाल शर्मा चंद्रप्रकाश द्विवेदी हरिवंश खंडेलवाल वैद्यप्रेम शंकर पुलिन बिहारी गौतम विश्वनाथ गुप्ता प्रोफेसर के.एम. अग्रवाल, केशव देव उपाध्याय रवि अग्रवाल भूपसिंह,, राकेश अग्रवाल राजेश अग्रवाल ,योगेश अग्रवाल आदि की उपस्थिति विशेष रूप से उल्लेखनीय रही ।कार्यक्रम का समायोजन खिचड़ी प्रसाद के साथ संपन्न हुआ प्रोफेसर के अग्रवाल ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)