आरएसएसडीआई 2024 का नेशनल कांफ्रेंस का आयोजन 5 से 7 जनवरी देश भर से जुटेंगे बड़े चिकित्सक

VijaySharma
0

धनबाद:मधुमेह से होने वाली बीमारियों से निजात और लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य धनबाद में रिसर्च सोसायटी फॉर द स्टडी ऑफ डायबिटीज इन इंडिया का तीन दिवसीय वार्षिक सम्मलेन धनबाद में 5 से 7 जनवरी तक आयोजित किया जा रहा है। जिसमें बाहर से आए चिकित्सा शुगर से होने वाले बीमारियों के दुष्प्रभाव और उससे बचने के उपाय की जानकारी साझा करेंगे।झारखंड में पहली बार इस सेमिनार को क्रेडिट पॉइंट मिला है जो की यहां के लिए उपलब्धि है किसी भी  सेमिनार को ऑर्गेनाइज करने को लेकर कई मानक होते हैं उसके बाद ही ऑल ओवर इंडिया में क्रेडिट दी जाती है।ऑर्गनाइजिंग सेक्रेटरी डॉ. अजय पटवारी एवं नेशनल एक्सक्यूटिव मेम्बर डॉ एन के सिंह ने गुरुवार को आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि बताया कि बताया कि देश भर से मधुमेह रोग चिकित्सक शिरकत करेंगे।इस कॉन्फ्रेंस में पहली दफा टाइप 1 एवं 2 मधुमेह मरीजों को भी शामिल किया गया है। पहले दिन धनबाद एवं अन्य राज्यों से आये चिकित्सको का साइंटिफिक सेसन होगा।दूसरे दिन कार्यक्रम का इनॉग्रेशन के साथ डायबिटीज मरीजों को चिकित्सकों से रूबरू कराया जाएगा। वही तीसरे दिन मेडिकल पीजी यूजी के छात्रों के लिए सेशन होगा। उन्होंने आगे बताया कि डायबिटीज के कारण हार्ट फेल्योर के भी चांस होते हैं जो बहुत कम लोगों को मालूम है इस तरह के सेमिनार का आयोजन से बहुत सी जानकारियां प्राप्त होती है और लोग जागरुक भी होते हैं फ़िलवक्त 2 से 3 प्रतिशत ही टाइप वन के मरीज हैं अन्य मरीज टाइप 2 के हैं। डायबिटीज के प्रति लोगों को जागरूक होना ज़रूरी, खानपान के कारण भी डायबिटीज होते हैं। पहली बार इस कॉन्फ्रेंस में मरीजों को भी जागरूक किया जाएगा। करीब 150 मरीजों को बुलाया गया है। सबों की जांच होगी और उन्हें जागरूक किया जाएगा।उन्होंने बताया कि सेमिनार में शुभारंभ के दौरान बिरसा मुंडा अल्बर्ट एक्का सहित अन्य महापुरुषों के नाम का संबोधन होगा और उनकी उपलब्धियां को बताया जाएगा।प्रेस कांफ्रेंस में शहर के जाने माने चिकित्सक डॉ. यू. के. ओझा, ऑर्गनाइजिंग चेयरमैन डॉ. भी. ए.स. भी. प्रसाद, डॉ. सीमा, डॉक्टर जी. चटर्जी शामिल थे।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)