बंगला भाषा उन्नयन समित की बैठक

VijaySharma
0


निरसा -- आज झारखंड में बंगला भाषी के लोगो के साथ झाल किया जा रहा है । बंगला भाषा को झारखंड से लुप्त किया जा रहा है । क्यूंकि विद्यालयों में बंगाली शिक्षकों की बहाली नही हो रही हैं । भाषा के आधार पर आज झारखंड के एक बड़े पैमाने पर बंगला भाषी लोग रहते है । किसी भी संस्कृति की जड़ शिक्षा व्यवस्था पर टिकी रहती हैं । जो आज हमारे यंहा के प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों के अभाव में ये नही हो पा रहा है । आज झारखंड बंगला भाषा उन्नयन समिती पूरे प्रदेश में विद्यार्थियों को ध्यान में रखते हुए बंगाली शिक्षक की बहाली की मांग करते हैं । उक्त बातें समिति के संस्थापक बेगू ठाकुर ने निरसा के कुड़कूड़ी में आयोजित बंगला भाषा उन्नयन समिति के बैनर तले हुई बैठक में कही । बैठक की अध्यक्षता बबलू दास ने की । बबलू दास ने कहा हमारे संगठन द्वरा आगामी 2024 के लोकसभा और विधानसभा चुनावों में सभी राजनीतिक पार्टियों से बंगला भाषा की बातों रखेगा वही झारखंड में राज करेगा । बैठक में सुनील हाजरा,दक्षिण तंतुबाई,राकेश चौधरी,शंभू महतो,हीरालाल सिंहजीतेंन बाउरी,राधा माजी, तरपोडो महतो,अमल दे,रुपाली चौधरी मौजूद थे ।
रिपोर्ट रिंकू सिन्हा 

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)