प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी हर्ल प्रोजेेक्ट के द्वारा निर्माण और उत्पादन ट्रायल पीरियड मे यूरिया का रिकार्ड उत्पादन

VijaySharma
0

सिंदरी (धनबाद): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट हिंदुस्तान उर्वरक एंव रसायन लिमिटेड ( हर्ल) सिंदरी ने निर्माण और ट्रायल पीरियड मे यूरिया का रिकॉर्ड उत्पादन किया है । हर्ल के एचआर विभाग द्वारा मुहैया कराए गए  यूरिया के उत्पादन रिकॉर्ड के अनुसार हर्ल ने 22 दिसंबर 2023 तक 9,02,419 .605 मिट्रिक टन यूरिया का उत्पादन किया है। हर्ल का उत्पादन ट्रायल भी दिसंबर 2022 में शुरु हुआ था ।

उत्पादन ट्रायल के दौरान यांत्रिक दोषों के कारण लगभग दो माह तक उत्पादन ठप रहा ,जो ट्रायल पीरियड की एक स्वाभाविक प्रक्रिया थी।
हर्ल प्रोजेक्ट सिंदरी की यूरिया का वार्षिक उत्पादन क्षमता लगभग 11,75 लाख मिट्रिक टन है ,दो माह का ट्रायल शटडाउन को छोड कर हर्ल प्रोजेेक्ट सिंदरी ने औसतन प्रतिमाह एक लाख मिट्रिक टन यूरिया का उत्पादन किया है जो यूरिया उत्पादन के लिहाज से बहुत ही वेहतर है ।

इस दौरान हर्ल प्रोजेक्ट से 8,68,006.350 मिट्रिक टन यूरिया रेल मार्ग से झारखंड. पश्चिम बंगाल और बिहार के विभिन्न वेयरहाउस में भेजे गए, जबकि 34,413.355 मिट्रिक टन यूरिया सड़क मार्ग से विभिन्न वेयरहाउस तक भेजे गए ।

हर्ल प्रोजेक्ट के सिनीयर एचआर हेड श्रीसंत सिंह ने बताया कि रेल और सड़क मार्ग से यूरिया डिस्पैच भी शानदार रहा है। यूरिया का उत्पादन और पैकेजिंग होने के साथ साथ डिस्पैच होता रहा,यह हर्ल प्रबंधन के द्वारा स्थापित वेहतर सिस्टम को दर्शाता है।
 
सिनीयर एचआर हेड ने बताया कि हर्ल प्रोजेेक्ट यूरिया उत्पादन के दूसरे वर्ष में प्रवेश कर गया है और प्रोजेक्ट से वेहतर यूरिया का उत्पादन हो रहा है, आशा जताई कि 2023-24 में निर्धारित वार्षिक उत्पादन लक्ष्य को प्राप्त कर लेगा। उन्होने इसके लिए हर्ल के सभी कर्मचारियो को बधाई दी है।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)