कैदियों के दो गुटों में हुई खूनी भिड़ंत, मारा गया कुख्यात शूटर अमन सिंह,,दो पुलिसकर्मी भी हुए घायल

VijaySharma
0




धनबाद  धनबाद जेल में रविवार को  जेल मे बंद कैदियों के दो गुटों के बीच हुई खूनी भिड़ंत के दौरान शूटर अमन सिंह की हत्या गोली मारकर कर दी गई। वह नीरज सिंह हत्या मामले में जेल में बंद था।पुलिस को स्थिति संभालने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। इस दौरान दो पुलिस के जवानों के भी घायल होने की सूचना है।इस बात की जानकारी मिलते ही धनबाद डीसी,एसएसपी समेत तमाम आलाधिकारी कारामंडल पहुंचें।  पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। कैदियों में भिड़ंत कैसे हुई यह रहस्य बना हुआ है।गौरतलब है कि अमन सिंह नीरज हत्याकांड के मुख्य आरोपियों में से एक है ,जानकारी के अनुसार शूटर अमन सिंह को जेल के अंदर तीन गोली मारी गई ।
जेल में रहने के दौरान ही अमन सिंह जिले के व्यवसायियों, उद्योगपतियों एवं अन्य कारोबारी से कथित रंगदारी की मांग को लेकर भी हमेशा चर्चा में रहा है। हालांकि आरोपी अमन सिंह को सजा दिलाने में धनबाद पुलिस एक बार फिर नाकाम रही थी। धनबाद पुलिस अमन सिंह के खिलाफ लगाए गए आरोपी को अदालत में प्रमाणित करने में फिर सफल नहीं हो सकी थी,जिस वजह से कोर्ट ने उसे रिहा कर दिया।बता दें कि इससे पूर्व भी पुलिस कई मामलों में अमन सिंह के खिलाफ कोई ठोस सबूत अदालत में प्रस्तुत नहीं कर सकी, जिससे अमन सिंह कई मामलों में बाइज्जत रिहा हो गया।
शनिवार को रंगदारी के एक अन्य मामले में अदालत ने अमन सिंह को साक्ष्य के अभाव में बरी करने का आदेश दिया। प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी शिवम चौरसिया की अदालत ने अमन सिंह को रिहा करने का आदेश दिया है। अमन सिंह फिलहाल पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह समेत चार लोगों की हत्या एवं आपराधिक मामलों में जेल में बंद था।
अमन सिंह, जेल में बैठकर रंगदारी के अलावा करवाता था सुपारी किलिंगः
धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह हत्याकांड में यूपी एसटीएफ ने मिर्जापुर जेल के बाहर से मई, 2021 में अमन सिंह को गिरफ्तार कर धनबाद पुलिस को सुपुर्द किया था। मगर पुलिस शायद यह नहीं जानती थी कि यही अमन सिंह आने वाले समय में धनबाद में आतंक का पर्याय बन जाएगा।अमन गैंग सिर्फ धनबाद व बोकारो के व्यापारियों से रंगदारी ही नहीं वसूल रहा है, बल्कि सुपारी लेकर लोगों की हत्याएं भी कर रहा था।अमन सिंह गैंग ने गुजरात वालसाड के बीजेपी नेता शैलेश पटेल की हत्या भी करवाई थी। सुपारी लेकर उसके गैंग के आजमगढ़ निवासी वैभव यादव व अयोध्या निवासी आशीष उर्फ सत्यम ने दो और शूटरों के साथ मिल कर शैलेश पटेल को छलनी कर दिया था। वहीं,आसनसोल के बीजेपी नेता राजू झा की हत्या भी अमन गैंग ने ही करवाई थी,दोनों मामले में अमन गैंग ने सुपारी किलिंग की।इसके अलावा, बरवाअड्डा कुर्मीडीह निवासी राजकुमार साव की हत्या भी एक सुपारी किलिंग थी।कुख्यात अपराधी अमन सिंह पुलिस की लापरवाही से रंगदारी मामले में बरी हो चुका था ।
अमन सिंह धनबाद के बैंक मोड़ थाना में पदस्थापित रहे दो सिपाहियों की गवाही नहीं देने के कारण धमकी और रंगदारी मामले में आरोपी कोयलांचल का गैंगस्टर अमन सिंह, उत्तरप्रदेश का उसका सहयोगी अभिनव प्रताप सिंह, सुनील निषाद व रवि ठाकुर को साक्ष्य के अभाव में धनबाद की निचली अदालत ने पिछले दिनों बरी कर दिया था।हाल के दिनों में गोविंदपुर थाना, तेतुलमारी थाना सहित कतरास थाना में राजेश गुप्ता पर गोली चलवाई थी। मिट्टू सिंह उर्फ राजेश सिंह से रंगदारी की मांग करने के साथ ही सिटी फ्यूल पेट्रोल पंप पर गोली चलवाने जैसी घटना को अंजाम दिलवाया था। अभिनव सिंह जो भी काम करता 
वह अमन सिंह के इशारे पर कर रहा है।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)