वायु प्रदूषण से निजात के लिए उपायुक्त से किया त्रिपक्षीय बैठक बुलाने की माँग

VijaySharma
0

झरिया (धनबाद): झरिया वासियों को जानलेवा वायु प्रदूषण से निजात दिलाने हेतु जिला प्रशासन, बीसीसीएल प्रबंधन एवं झरिया के नागरिकों की एक त्रिपक्षीय बैठक होनी चाहिए। झरिया में व्याप्त वायु प्रदूषण के खिलाफ संघर्षरत समाजसेवियों ने यह मांग धनबाद के उपायुक्त से की।
इस संबंध में धनबाद उपायुक्त, नगर आयुक्त धनबाद नगर निगम, एवं अनुमंडल पदाधिकारी धनबाद को पत्र प्रेषित किया गया है।
प्रेषित पत्र में मांग की गई कि ओवर बर्डेन को आबादी से दूर गिराया जाए ।ओवर बर्डेन को पानी के साथ गिला कर के ही गिराया जाए ताकि धूलकण उड़ने से वातावरण  प्रदूषित न हो । कोयला ट्रांसपोटिंग मुख्य सड़क से न हो । ट्रांसपोटिंग क्षेत्रों में पानी का छिड़काव हो । ओवर बर्डेन एवं खनन क्षेत्र को समतल कर उस पर पौधारोपण किया जाए ।
 ग्रीन लाइफ के संयोजक डॉ.मनोज सिंह ने कहा कि वायु प्रदूषण की समस्या से त्रस्त झरिया के नागरिक कई महीनों से आंदोलनरत हैं । किन्तु इनकी गुहार सुनने वाला कोई नहीं है । जिम्मेवार अधिकारियों को पता नही की प्रदूषण को कैसे नियंत्रित किया जाए । अतः जिला प्रशासन, बीसीसीएल प्रबंधन एवं नागरिकों के बीच त्रिपक्षीय बैठक हो ताकि उक्त बातों पर विचार विमर्श कर क्रियान्वित की जा सके ।  डॉ. मनोज ने कहा कि यदि हमारी मांगों पर विचार नही हुआ तो हमलोग झरिया में आमरण अनशन पर बैठेंगे ।
यूथ कॉन्सेप्ट के संयोजक अखलाक अहमद ने कहा कि 14 दिसम्बर को हजारों नागरिकों ने सड़क पर उतर कर वायु प्रदूषण का विरोध किया किन्तु कोयला खनन में लगे लोगों के कार्यशैली में कोई अंतर नही हुआ । किन्तु प्रदूषण के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा । यदि जिला प्रशासन हस्तक्षेप नही करता तो आंदोलन उग्र रूप धारण कर सकता है । इसलिए सरकार पहल कर वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने में मदद करे । इस कार्य मे हमारे जनप्रतिनिधियों को भी आगे आना चाहिए ।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)