सेवा से वर्खास्त मजदूरों वापस लेने की मांग पर पिछले 35 दिनों से ग्रामीणों का एसीसी मेटेरियल गेट पर धरना

VijaySharma
0


सिंदरी (धनबाद):  एसीसी सीमेंट कारखाना से 20 कर्मचारियों को 20 दिसंबर 2019 को सेवा से वर्खास्त कर दिया गया था, इन कर्मचारियों को दोबारा काम पर वापस लेने की मांग करते हुए झारखंडी भाषा खतियानी संघर्ष समिति के बैनर तले एसीसी के मेटेरियल गेट के निकट छटनीग्रस्त मजदूर पिछले 35 दिनों से अनिश्चितकालीन धरना पर बैठे हैं।

खतियानी संघर्ष समिति के नेता अशोक महतो ने बताया कि इसके अलावा 75 फिसदी स्थानीय लोगों को रोजगार देने की है ।

उन्होने बताया कि एसीसी सीमेंट प्रबंधन ने अब तक कोई पहल नही किया है, सीमेंट प्रबंधन से प्राप्त जानकारी के अनुसार छटनीग्रस्त मजदूर विधायक ढुल्लू महतो के नेतृत्व वाली एटक के बैनर तले  टाईगर फोर्स के तात्कालिक जिलाध्यक्ष धर्मजीत सिंह के नेतृत्व मे सीमेंट गेट पर आंदोलन कर रहे थे।आंदोलन को लेकर काफी तनाव था। मजदूरों की ओर से पथराव हुआ।

पथराव में तात्कालिक थाना प्रभारी राजकपूर भी घायल हुए।उन्होने दो राउंड फायरिंग कर अपनी जान बचाई। इस घटना के बाद सीमेंट प्रबंधन ने जांच समिति का गठन कर दिया ।सीसीटीवी फुटेज के आधार पर दोषियों को चिन्हित कर 20 मजदूरों को सेवा से वर्खास्त कर दिया गया था।
अशोक महतो का दावा है कि सीमेंट प्रबंधन ने झूठे आरोप मे निर्दोष मजदूरों को फंसा कर वर्खास्त किया है।
बहरहाल आंदोलन कारियों को 3 जनवरी का इंतजार है,3 जनवरी को खतियानी संघर्ष समिति के नेता जयराम महतो का आना निश्चित हुआ  है ।जयराम महतो उर्फ टाईगर को आने की सूचना से आंदोलन कारी उत्साह मे है।वहीं सीमेंट प्रबंधन में भय है।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)