भरतदासचार्य महाराज के दृण संकल्प से पूर्ण हुआ लक्ष्मी नारायण महायज्ञ ----- श्रीकांत शर्मा

VijaySharma
0




श्रीधाम वृंदावन के परिक्रमा मार्ग स्थित पवित्र कुंभ मेला क्षेत्र में 17 नवंबर से चल रहे 108 वां 108 कुंडीय श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ एवं अष्टोत्तर श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ  सोमवार को पूर्ण विधि विधान के साथ संपन्न हुआ।
इस अवसर में बोलते हुए कार्यक्रम के प्रेरणा स्रोत स्वामी श्री भरत दासाचार्य महाराज ने बताया कि भगवान श्री लक्ष्मी नारायण की प्रेरणा से 20 दिसंबर 1971 को प्रथम 108 कुंडीय  श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ का आयोजन ग्वालियर मध्य प्रदेश में किया गया था। इसी के साथ देश के समस्त राज्यों में इसी प्रकार श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ का आयोजन किया गया। आज ठाकुर बांके बिहारी की कृपा से जो संकल्प मेरे द्वारा लिया गया था वह श्री धाम वृंदावन की पवित्र भूमि पर आज संपन्न हो गया।
महायज्ञ की पूर्णाहुति में पहुंचे मथुरा वृंदावन के विधायक श्रीकांत शर्मा ने कहा कि मेरा परम सौभाग्य है जो मुझे इस महायज्ञ के दर्शन करने का अवसर मिला। महाराज श्री के द्वारा जो संकल्प लिया गया था वह आज पूर्ण हो गया है।
आयोजन समिति के अध्यक्ष सतीश मित्तल ने बताया कि हम सभी भक्तगणों का सौभाग्य है जो हमें वृंदावन की पवित्र भूमि पर इस तरह का विराट आयोजन देखने को मिला। भगवान लक्ष्मी नारायण ने गुरु जी के 108 महायज्ञ के संकल्प को पूर्ण कर अपना आशीर्वाद प्रदान किया है।
मीडिया प्रभारी महेश खंडेलवाल ने बताया कि प्रातः काल से यह लक्ष्मी नारायण महायज्ञ प्रारंभ होकर दोपहर तक चलता था। मध्यान के समय विश्राम के उपरांत दोपहर 3 बजे से पुनः यज्ञ प्रारंभ किया जाता था जो कि सायंकाल  तक चलता था। यज्ञ करने वाले सभी यजमान भोजन से लेकर वस्त्र एवं नियम संयम आदि सभी का पूर्ण रूप से पालन करते हुए इस यज्ञ में आहुति देते थे। दोपहर 3 से शाम 7 तक अयोध्या धाम से पधारे जगतगुरु दो स्वामी राघवाचार्य महाराज के श्री मुख से भक्तों ने श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान एक का रसपान किया। इसी के साथ रात्रि 9:00 बजे से भगवान श्री कृष्ण की लीलाओं का रासलीला के माध्यम से दर्शन किया।
आचार्य जुगल किशोर महाराज ने बताया कि निश्चित रूप से इतना विराट आयोजन भगवान की कृपा के बिना पूर्ण होना संभव नहीं है। देश के कोने-कोने से आए भक्तों एवं स्थानीय लोगों के सहयोग से यह यज्ञ एवं भागवत कथा संपन्न हुई। तत्पश्चात आज वृहद भंडारे का आयोजन किया गया जिसमें श्रीधाम वृंदावन के साधु संतों एवं भक्तों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। हजारों की संख्या में भक्तों ने भंडारे में प्रसाद पाकर अपने आप को धन्य महसूस किया।
मुख्य आयोजक जगदीश काबरा ने पधारे हुए सभी भक्तों का धन्यवाद ज्ञापन किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से मंजू काबरा, अर्पित काबरा, अवनी काबरा,सुभाष काबरा,बाबूलाल मोहता,दीनानाथ शर्मा,पवन मित्तल, संजय चंद्रा,हीरालाल दमानी, गुलाबचंद पारीक एवं रवि गोलयान आदि उपस्थित रहे।
स्टेट ब्यूरो आशुतोष शर्मा
वृंदावन

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)