गौशाला की आत्मनिर्भरता हमारी पहली प्राथमिकता है----- राजीव रंजन

VijaySharma
0



धनबाद  झारखंड गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद ने आज कहा कि गौशाला की आत्मनिर्भरता हमारी पहली प्राथमिकता है। 15 वर्ष बाद गौ सेवा आयोग का गठन हुआ है। उचित कदम उठाया जा रहा है। मेहनती योजना सभी गौशाला के लिए जन कल्यणकारी योजना का शुरवात जनवरी से होगा। एक ,एक व्यक्ति को गौ पालन के लिए प्रेरित किया जाएगा सभी 23 निबंधित गोशाला के लिए सभी गौ वंश की सेवा का भावना पैदाकरना है। अनुदान राशि एक सौ से बढ़ाकर डेढ़ सौ करने का प्रस्ताव आयोग ने सरकार को भेजा है। झारखंड गौ सेवा आयोग के उपाध्यक्ष राजू गिरी ने कहा कि घर मे पहली रोटी गाय के लिए निकाले। यही पुण्य है, गौ मुख्ति धाम हर गौशाला में होना चाहिये। 5 प्रमंडल में गौशाला को मदद के लिए विभागीय मंत्री से बात करके समाधान करवाने की बात कही। सभी अतिथियों ने संयुक्त रूप से स्मारिका का विमोचन किया।
वक्ता केशव हदोद्रिया ने कहा कि हिन्दुत्व की रक्षा के लिए गौ हत्या रोकना है,यही हमारा उद्देश्य है,सरकार प्रशासन द्वारा गौ को पकड़ने के बाद दिए गए गौ वंश की देखभाल जरूरी है। गौशाला को आत्मनिर्भर बनाने है, एकल अभियान 23, 24, 25 दिसम्बर को धनबाद में किसान को समृद्ध बनाने के लिये कार्यशाला गौ ग्राम सेवा द्वारा आयोजित है।बाघमारा विधायक की पत्नी सावित्री देवी ने कहा कि 104 वॉ वार्षिक सम्मेलन सभी की ईमानदारी व सामाजिक संगठन का प्रतिक है। पुनीत कार्य में गंगा गौशाला कमिटी को तन मन धन से हमेशा मदद करने की बात कही। गौ सेवा एक तपस्या से कम नही है। मुख्य रूप से डॉक्टर दुर्गेशचार्य जी महाराज,वैभव सिन्हा ने कहा कि झारखंड सरकार ने 14 वर्ष बाद गौ सेवा आयोग का गठन किया। सरकार सकारात्मक पहल किया जायेगा। जीप अध्यक्ष शारदा सिंह ने कहा कि गौशाला में एक साथ हजारों देवी देवताओं का दर्शन होता है। गोशाला में कमिटी द्वारा गौ माता का सेवा करना सराहनीय कार्य के लिए में धन्यबाद दिया।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)