बुजुर्गों की निरंतर सेवा लालमणि का एक प्रेरणादायक एवं प्रशासनीय कार्य-----मथुरा प्रसाद महतो

VijaySharma
0
धनबाद  लोहारबरवा टुंडी रोड कदैया ग्राम स्थित लालमणि वृद्धा सेवा आश्रम का 17 वां स्थापना दिवस बहुत ही शानदार एवं बुजुर्गों के प्रति हार्दिक रूप से समर्पित नमन एवं सम्मान के साथ मनाया गया।इस अवसर पर आश्रम के महिला एवं पुरुष बुजुर्गो का ध्यान रखने वाले मददगार  बेटे बेटिया अपने पूरे परिवार के साथ आश्रम पहुंचकर बुजुर्गों की सेवा सम्मान कर उनका आत्मिक हार्दिक आशीर्वाद लिया।इस अवसर पर मुख्य अतिथि मथुरा प्रसाद महतो एवं अन्य अतिथियों ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित किया।आश्रम में बने मंच पर सभी अतिथियों आए हुए पत्रकारों  का पुष्पगुच्छ,मोमेंटो एवं शॉल ओढ़ाकर उनके द्वारा आश्रम में सालों भर किए गए कार्यों,योगदान के लिए आश्रम प्रबंधन द्वारा सम्मानित किया और मंच पर 17वां स्थापना दिवस के अवसर पर केक काटकर बुजुर्गो की सेवा का शपथ लिया गया।स्थापना दिवस सह सम्मान समारोह में आश्रम के सभी महिला एवं पुरुष बुजुर्गों के चेहरे पर लोगों का सेवा,सम्मान आदर देखकर एक संतोषजनक एवं सुकून दायक मुस्कान और अद्भुत खुशी झलक रही थी।मुख्य अतिथि मथुरा प्रसाद महतो ने कहा मैं नौशाद गद्दी एवं समस्त आश्रम प्रबंधन को बुजुर्गों की    लगातार 17 साल से सेवा सम्मान का महान कार्य के लिए हार्दिक बधाई एवं धन्यवाद देता हूं।यह लालमणि आश्रम प्रबंधन का बहुत ही प्रशंसा का विषय है।आश्रम के अध्यक्ष नौशाद गद्दी ने कहा 17 वर्ष पूर्व दो कमरों से हम तीन दोस्तों ने स्वर्गीय मनोरंजन सिंह, स्वर्गीय रामजी यादव ने इस आश्रम की नींव रखी थी,और आज हमारा सपना   सफल होता दिख रहा है कि सारे धनबादवासी जिसमें पुलिस प्रशासन, छात्र-छात्राएं,परिवार,स्कूल प्रबंधन, कॉलेज प्रबंधन,सामाजिक संस्थाएं यथासंभव इन बुजुर्गों की यहां पहुंचकर सेवा सम्मान कर रहे हैं और उनका हाल-चाल पूछ रहे है।आज आश्रम में स्थापना दिवस का बहुत ही शोभामय सम्मानयुक्त शानदार अपनापन भरा हृदय मन हृदय का संगम बहुत ही हृदयमोहक दर्शनीय  पल था।उपस्थित विशिष्ट अतिथि उदय प्रताप सिंह ने कहा अब तो आश्रम में आने की आदत सी लग गई है,जब भी फुर्सत रहता है यहां बुजुर्गो के सेवा  सम्मान के लिए पहुंच जाता हुं,जिससे हृदय मन अंतरात्मा को एक सुखद अनुभूति और शांति मिलती है।मौके पर पंकज सिंह,झारखंड किन्नर समाज की अध्यक्ष छम छम देवी,श्वेता किन्नर, मुख्तार खान,मुन्ना सिंह,हरेंद्र सिंह, दिलशाद खान,कुसुंडा डीएवी के पूर्व प्रिंसिपल एसएस हाजरा,समाजसेवी ओमकार मिश्रा,सचिव डॉ. डी शरण, कार्यकारी अध्यक्ष बी सुधीर,आश्रम के सह सचिव सुरेंद्र यादव,मीडिया प्रभारी  विजय सिन्हा,रोटी बैंक के अध्यक्ष रवि शेखर,अमरजीत पासवान,गणेश शर्मा पूर्व सैनिक आरके सिंह एवं शंभू सिंह,केयरटेकर सुबल सिंह एवं शांति देवी,मनोज महतो,जहीद डेकोरेटर का पंडाल निर्माण में योगदान था।बुजुर्गो की सेवा सत्कार करने वाले सैकड़ों कद्रदान उपस्थित थे।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)