फौजी के परिवार को नहीं मिल रहा इंसाफ धनबाद उपायुक्त के जनता दरबार,एसएसपी,एसपी से लगाई इंसाफ की गुहार

VijaySharma
0
 लोयाबाद निवासी आमिर हूसैन ने धनबाद उपायुक्त के जनता दरबार धनबाद एसएसपी और ग्रामीण एसपी सहित ईसमाधान में आवेदन देकर कहा है कि मैं सीमा सुरक्षा बल का कार्मिक हूं और जम्मू-कश्मीर के एफ. डी. एल.में तैनात हूं.मुझे 3 नवंबर को पता चला कि हमारे परिवार के सदस्यों के साथ अभद्र व्यवहार किया जा रहा है लोयाबाद थाना में प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा रही है. मैं 6 नवंबर की रात्रि में अपने घर लोयाबाद पहुंचा तो जानकारी मिली कि हमारी माता मेहताब खातून के साथ हमारे पड़ोसी मो. अस्लम मंसूरी एवं उनके परिवार के सदस्यों के द्वारा मार-पीट करने का प्रयास किया गया है एवं गाली गलौज दी गई है.इस मामले को लेकर हमारी बहन सिमरन प्रवीन जो सशस्त्र सीमा बल की कर्मी है जो वर्तमान में रानी दंगा सशस्त्र सीमा बल कैंप 41 बी.एन . बागडोगरा वेस्ट बंगाल में तैनात है उसने लोयाबाद थाना प्रभारी राजन राम को फोन पर  सुचना दी थी, 26 नवंबर को और हमारी माता मेहताब खातून ने आवेदन दिया था. लोयाबाद थाना में उसके बाद भी लोयाबाद थाना में प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई। मैं 8 नवंबर को लोयाबाद थाना जाकर थाना प्रभारी राजन राम से मुलाकात कर समस्याओं से अवगत कराया तथा विनती की तब जाकर हमारे माताजी के आवेदन को स्वीकार किया गया लोयाबाद थाना में. एवं 11 नवंबर को हमें पता चला कि हमारे उपर हमारी बहन के उपर हमारे दो भाई हैं उनके उपर और हमारी मां के उपर लोयाबाद थाना में केस नंबर 34/23 दिनांक 08/11/2023 झूठा मनगढ़ंत एवं बेबुनियाद आरोप लगाया गया है.फिरोजा खातून पति मो असलम मंसूरी के द्वारा. 10 नवंबर को भी मो असलम मंसूरी के परिवार के सदस्यों के द्वारा हमें और हमारे परिवार को रात्रि में गाली गलौज दी गई थी इसकी सूचना हमने रात में ही लोयाबाद थाना के पदाधिकारी मनोज कुमार मिश्रा के मोबाइल के माध्यम से दी परंतु लोयाबाद थाना का कोई भी पदाधिकारी घटना स्थल पर नहीं आएं। हमारी मां को शक था कि हमारे परिवार के सदस्यों को झूठे मुकदमे में फंसाने का प्रयास किया जा सकता है जिसका जिक्र 26 नवंबर को एवं 8 नवंबर के आवेदन किया गया है, हमारी मां की बातें सत्य होते दिख रही है,लोयाबाद थाना के पदाधिकारी मनोज कुमार मिश्रा हमें जेल भेजने की धमकी दे रहे है, मनोज कुमार मिश्रा जी के द्वारा निष्पक्ष जांच नहीं किया जा रहा है.सुत्रो से जानकारी प्राप्त हुई है, कि लोयाबाद थाना के पदाधिकारी को मो असलम मंसूरी के द्वारा मोटी रकम दी गई है,इस कारण प्रशासन निष्पक्ष जांच नहीं कर रही है और हमें और हमारे परिवार को झूठे मनगढ़ंत एवं बेबुनियाद मुकदमे में फंसाने वाले मो असलम मंसूरी के परिवार को सहयोग कर रही है. मुझे दुःख है कि मैं अपने परिवार को सुरक्षा एवं इंसाफ नहीं दिला पा रहा हूं, हम दोनों भाई बहन फौजी है प्रशासन का सम्मान करते हैं फिर भी बातों को अनदेखा कर रहे है निजी स्वार्थ के लिए लोयाबाद थाना प्रभारी राजन राम एवं लोयाबाद थाना के पदाधिकारी मनोज कुमार मिश्रा. उन्हें धनबाद उपायुक्त, धनबाद एसएसपी और ग्रामीण एसपी पर विश्वास है कि उन्हें और उनके परिवार को इंसाफ मिलेगा.लोयाबाद थाना के पदाधिकारी पर आरोप लगाते हुए आमिर हुसैन ने कहा कि अगर लोयाबाद थाना प्रभारी 26 नवंबर को आवेदन लेकर कार्रवाई करने तो हम सभी के दामन पर दाग नहीं लगता और हमारे परिवार के उपर बेबुनियाद आरोप नहीं लगता आज हमारे उपर और हमारे परिवार के साथ जो नाइंसाफी हो रही है इसका जिम्मेदार लोयाबाद थाना प्रभारी राजन राम और मनोज कुमार मिश्रा है इसलिए हम यह मांग करते हैं झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और धनबाद जिला प्रशासन से की इस मामले की निष्पक्ष जांच कर हमें और हमारे परिवार को दोष मुक्त करें और दोषी व्यक्तियों और पदाधिकारियों पर कार्रवाई करें.
स्टेट ब्यूरो निशा कुमारी 
झारखंड

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)