केंदुआ अगजनी में हुए दर्दनाक मौत मामले में मृतकों के परिजनों से मिले सांसद व विधायक ढुल्लू

VijaySharma
0
सांसद पशुपतिनाथ सिंह ने दिया जांच का आदेश


धनबाद  सोमवार की बीती रात्रि केंदुआ बाजार आजाद चौक के समीप सुभाष गुप्ता के दुकान एवं मकान में आग लगने से उनकी पांच साल की बच्ची सहित माँ एवं बहन की मौत हो गई थी ।मंगलवार को पोस्टमार्टम कराकर तीनों शवों के घर पहुंचते ही केंदुआ क्षेत्र में चीत्कार पुकार का महौल के बीच धनबाद सांसद पशुपतिनाथ सिंह और बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो मर्माहत उनके आवास पहुँचेlऔर मृतक के परिवार को ढांढस बढ़ते हुए गहरा शोक जताया।साथ ही वहां उपस्थित पुटकी अंचल अधिकारी को सांसद ने जांच का आदेश दिया है।सांसद श्री सिंह ने पीड़ित परिजनों को ढांढस बढ़ते हुए उचित मुआवजे पर पहल करने की बात कही है।इस दौरान विधायक ढुल्लू काफी दुखी थेlऔर इस गहरी पीड़ा के साथ शव यात्रा में शामिल हुए।शव यात्रा एक साथ केंदुआ बाजार से निकाला गया।जिसमे हजारों की संख्या में लोग शामिल थे।तीनो का अंतिम संस्कार तेलमोंचो घाट में किया गया।ज्ञात हो की धनबाद में सोमवार की रात आग ने भीषण तबाही मचाई है।इस आगजनी में पांच साल की बच्ची समेत तीन लोगों की मौत हो गई है।जबकि तीन लोग गंभीर रूप से झुलस गए।केंदुआडीह थाना क्षेत्र के केंदुआ बाजार स्थित जेवर पट्टी के एस के जनरल श्रृंगार स्टोर में अचानक भीषण आग लग गई।आग की उठती लपटों पर जैसे ही लोगों की नजर पड़ी वहां अफरा तफरी मच गई।देखते ही देखते हजारों की संख्या में स्थानीय लोग जुट गएlऔर आग बुझाने की कोशिश करने लगे।जिस श्रृंगार स्टोर में आग लगी थीl उसके ठीक ऊपर मकान में एक परिवार के छह सदस्य मौजूद थे।आग बुझाने के साथ ही लोग मकान में मौजूद परिवार के सदस्यों की जान बचाने की जद्दोजहद में जुट गए। इधर कुछ लोगों ने हादसे की सूचना अग्निशमन विभाग को दी।जिसके बाद दमकल की दो बड़ी गाड़ियां और एक छोटी गाड़ी मौके पर पहुंची।आग इतनी भीषण थी कि कुछ ही देर में आग ने श्रृंगार स्टोर से सटे एक इलेक्ट्रॉनिक दुकान को भी अपनी चपेट में ले लिया जिससे आग और गंभीर हो गईl दमकल की गाड़ी के पहुंचने से पहले स्थानीय लोगों ने दुकान के ऊपर मकान में रह रहे लोगों की जान बचाने की कोशिश की। भीषण आग के कारण मकान में मौजूद परिवार के सदस्यों की स्थिति बिगड़ते जा रही थी। लोगों ने सड़क से ऊपर बालकनी में सीढ़ी लगाई और बड़ी मुश्किल से घर के अंदर दाखिल हुए।इस दौरान तीन लोगों को निकालने में सफल रहे। इसके बाद फायर ब्रिगेड की टीम दो बड़ी और एक छोटी वाहन लेकर पहुंची।कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।रेस्क्यू के दौरान फायर ब्रिगेड की टीम ने तीन अन्य को निकालने में सफल रहे।लोगों ने रेस्क्यू कर मकान से दुकानदार सुभाष की 30 वर्षीय बहन प्रियंका गुप्ता,भाई सुमित गुप्ता और डेढ़ साल के बेटे शिवांश को बाहर निकाला।हालांकि उनकी हालत काफी गंभीर थी।वहीं फायर ब्रिगेड की टीम ने दुकान के मालिक सुभाष गुप्ता की 65 वर्षीय मां उमा देवी उसकी पत्नी सुमन गुप्ता और चार साल की बेटी मौली को रेस्क्यू कर बाहर निकाला।इनमें सभी की हालत बेहद गंभीर थी।लोगों ने उन्हें तुरंत सदर अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां इलाज के दौरान प्रियंका,सुभाष की मां उमा देवी और पांच साल की बेटी मौली ने दम तोड़ दिया।वहीं पत्नी सुमन गुप्ता,भाई सुमित गुप्ता और डेढ़ साल के शिवांश का इलाज चल रहा है।हादसे के दौरान सुभाष गुप्ता और उसके पिता अशोक गुप्ता घर से बाहर थे,जिस कारण दोनों की जान बच गई।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)