कुहुका बस्ती के सड़क पर पड़ी दरार अवैध उत्खनन का परिणाम

VijaySharma
0
निरसा  ईसीएल मुगमा क्षेत्र के हडियाजाम कोलियरी अंतर्गत कुहुका बस्ती स्थित भीटी पंप के समीप मंगलवार की शाम में लगभग 100 मीटर के दायरे में जमीन फट गई l जमीन में दरार पर जाने से सड़क को भी अपने चपेट में ले लिया।कुहुका  बस्ती के ग्रामीण दहशत में है क्योंकि गांव का वही एक मात्र रास्ता है जिससे लोग आना जाना करते है।घटना मंगलवार की शाम की है।नवरात्र का दसमी दिन था, जिस कारण गांव के बच्चे बूढ़े महिलाएं मां का आशीर्वाद लेने,मेला का आनन्द उठाने,व पंडाल की सजावट देखने के लिए उत्साहित थे।शाम को रंग विरंगे परिधान से सुसज्जित होकर उसी रास्ते से होकर निकले थे जिसमे दरारें पड़ी थी।इसी रास्ते लोंगों का आना जाना लगा रहा , किसी ने गौर नही किया क्योंकि अंधेरा था।इसे संयोग कहें या मां का आशीर्वाद।कोई बड़ी दुर्घटना नही घटी वर्ना कोहराम मच जाता।सड़क में पड़ी दरार की विस्तृत जानकारी आज बुधवार को सुबह हुई ।सूत्रों के अनुसार उक्त दरार अवैध कोयला कटाई का परिणाम बताया जाता है।ईसीएल के  भीटी पम्प के इर्द गिर्द अवैध कोयले की कटाई होती है जबकि भीटी पंप पर ईसीएल की गार्ड और सीआईएसएफ के जवान पेट्रोलिंग करते हैं।कोयले का अवैध उत्खनन व ढुलाई उनके आंखों के सामने होता है।चांदी के चंद सिक्कों के लिये वे कोयले के धंधेबाजों से मधुर सम्बन्ध स्थापित कर रखा है जो जग जाहिर है।कोयला चोर बेफ्रिक्र होकर अवैध कोयले की कटाई और ढुलाई में  मशगूल रहते हैं।उसी का परिणाम है  कि भू धसान हो रही है।वहीं ईसीएल प्रबन्धन व सीआईएसफ का दावा है कि अवैध रूप से कोयले की कटाई और ढुलाई नहीं करने दी जाएगी l जबकि ईसीएल के श्यामपुर,फटका व कुहुका आदि स्थानों में दिन प्रतिदिन हजारों टन कोयला की लूट हो रही है। लगभग दो वर्ष पहले भी उक्त वस्ती में आंगनबाड़ी केंद्र के समीप जमींदोज हो गई थी।वहां से आंगनबाड़ी केंद्र व प्राथमिक विद्यालय को अन्यत्र स्थान पर स्थानांतरित किया गया।फिर भी ईसीएल प्रबंधन नही चेती।जानकर बताते है कि ईसीएल प्रबन्धन प्रति माह लाखों रुपये खर्च कर बैजना कोलियरी क्षेत्र में सीआईएसएफ का कैम्प बनाया है ताकि चोरी लूट खसोट,अवैध उत्खनन पर रोक लग सके।मगर हो रहा है उसका विपरीत आखिर सीआईएसएफ किस मर्ज की दवा है ?

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)