डीएमएफटी गवर्निंग काउंसिल की बैठक में शिक्षा पर 150 करोड़, स्वास्थ्य पर 50 करोड़ व आंगनबाड़ी के लिए 53 करोड़ रुपये के बजट का प्रस्ताव

VijaySharma
0
धनबाद जिला दंडाधिकारी सह उपायुक्त श्री वरुण रंजन की अध्यक्षता में सोमवार को न्यू टाउन हॉल में जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट (डीएमएफटी) गवर्निंग काउंसिल की बैठक संपन्न हुई।इस अवसर पर उपायुक्त ने कहा कि माननीय जनप्रतिनिधियों से कुल 578 योजनाओं की अनुशंसा प्राप्त हुई है। इसका कार्यान्वयन राज्य स्तर की अन्य योजनाओं की तरह डीएमएफटी परिकल्पना के अनुरूप करना है उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव के द्वारा समीक्षा के क्रम में दिए गए सुझाव एवं स्वास्थ्य सचिव द्वारा तथा भारत सरकार के निर्देश के आलोक में डीएमएफटी के तहत विभिन्न क्षेत्रों के लिए लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसमें लगभग 378 करोड रुपए की राशि आवंटित करने का प्रस्ताव है।उन्होंने कहा कि डीएमएफटी के तहत विभिन्न प्रखंडों में एक करोड़ से ऊपर की राशि की योजनाओं को स्वीकृति प्रदान की गई है। उन्होंने बताया कि एक करोड़ से अधिक की राशि के तकनीकी प्राक्कलन की स्वीकृति चीफ इंजीनियर के स्तर से की जाती है। जिसमें काफी विलंब होता है। कुछ योजनाएं हैं जो राज्य स्तर से तकनीकी स्वीकृति प्राप्त नहीं होने के कारण उनका कार्यान्वयन नहीं हो पा रहा है।बैठक के दौरान उप विकास आयुक्त सह सचिव,डीएमएफटी न्यास परिषद श्री शशि प्रकाश सिंह ने बताया की डीएमएफटी फंड से सड़क निर्माण, शिक्षा के क्षेत्र में मूलभूत सुविधाओं एवं आधारभूत संरचना में सुधार, महिला-बाल कल्याण विकास के लिए कार्य,आंगनवाड़ी में आधारभूत संरचना एवं मूलभूत सुविधाएं, स्वास्थ्य संबंधित योजनाओं, खेलकूद से संबंधित कई तरह की योजनाएं, दिव्यांगो के लिए विशेष उपकरण, केज फिशिंग, ट्रैफिक मैनेजमेंट समेत कई बिंदुओं पर कार्य चल रहे है।बैठक में शिक्षा के क्षेत्र में डीएमएफटी न्यास परिषद के समक्ष लगभग डेढ़ सौ करोड रुपए के बजट का प्रस्ताव रखा गया। जिसमें 1727 स्कूलों में सर्वे करा कर मरम्मती, क्लासरूम की आवश्यकता, शौचालय, लैब, पानी, ग्राउंड, बाउंड्री वॉल, लाइब्रेरी, फर्नीचर समेत 11 विषय वस्तु की जानकारी ली गई है। इस सर्वे के अनुसार ही सभी स्कूलों में आवश्यकता के अनुसार कार्य किया जाएगा।वहीं स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्य करने हेतु डीएमएफटी न्यास परिषद के समक्ष लगभग 50 करोड़ 38 लख रुपए का प्रस्ताव रखा गया। जिसमें कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, प्रायमरी हेल्थ सेंटर, हेल्थ सब केंद्र इत्यादि के मरम्मती के साथ-साथ पानी एवं बिजली जैसी मूलभूत सुविधाओं तथा शहीद निर्मल महतो मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एसएनएमएमसीएच) में बुनियादी संरचना व विभिन्न मेडिकल उपकरण की कमी को पूरा किया जाएगा।वहीं डीएमएफटी द्वारा पूर्व से 5 करोड रुपए की राशि डॉक्टर एवं स्टाफ के लिए स्वीकृत थी, विभिन्न स्थानों पर डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ की आवश्यकता को पूरा करने हेतु इस वर्ष अलग से और 5 करोड़ और राशि की प्रस्ताव परिषद के सामने रखा गया।न्यास परिषद के समक्ष आंगनवाड़ी के आधारभूत संरचना एवं मूलभूत सुविधाओं के लिए 53 करोड रुपए का प्रस्ताव रखा गया। साथ ही 13 राजस्व ग्राम को ऑल वेदर रोड से जोड़ने के लिए 25 करोड़ का प्रस्ताव रखा गया। साथ ही लगभग 100 करोड रुपए की राशि माननीय जनप्रतिनिधियों से प्राप्त अनुशंसा के लिए रखी गई है।बैठक में उपायुक्त श्री वरुण रंजन, उप विकास आयुक्त श्री शशि प्रकाश सिंह, माननीय सांसद गिरिडीह श्री चंद्रप्रकाश चौधरी, माननीय विधायक टुंडी श्री मथुरा प्रसाद महतो, माननीय विधायक धनबाद श्री राज सिन्हा, माननीय विधायक बाघमारा श्री ढुल्लू महतो, माननीय विधायक निरसा श्रीमती अपर्णा सेनगुप्ता,माननीय विधायक झरिया श्रीमती पूर्णिमा नीरज सिंह, जिला परिषद की माननीय अध्यक्ष श्रीमती शारदा सिंह, माननीय विधायक सिंदरी के प्रतिनिधि, विभिन्न पंचायत के मुखिया के अलावा वन प्रमंडल पदाधिकारी श्री विकास पालीवाल, ग्रामीण एसपी श्री कपिल चौधरी, निदेशक डीआरडीए श्री मुमताज अली अहमद सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)